18.2 C
London
Thursday, May 23, 2024
spot_img

उत्तराखंड: पांच राज्यों के चुनावी नतीजों के बाद नए एक्शन में दिखेगी भाजपा, कार्यक्रमों पर पूरी तरह से फोकस करने के निर्देश

ख़बर रफ़्तार, देहरादून:  मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और मिजोरम विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद प्रदेश भाजपा नए एक्शन में दिखेगी। चुनाव परिणाम को देखते हुए केंद्रीय नेतृत्व प्रदेश संगठन के लिए लोक सभा चुनाव की तैयारी को लेकर नए कार्यक्रम भेजेगा। अभी पार्टी को केवल प्रमुख कार्यक्रमों पर पूरी तरह से फोकस करने के निर्देश हैं।

पहला अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति वर्ग के कार्यकर्ताओं का सम्मेलन करना और दूसरा विकसित भारत संकल्प यात्रा में सक्रिय भागीदारी निभाना। पार्टी के प्रदेश महामंत्री आदित्यराम कोठारी के मुताबिक, इन दोनों कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार हो गई है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, अभी तक केंद्रीय नेतृत्व का पूरा फोकस पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव पर था।
तीन दिसंबर को चुनाव परिणाम आने के बाद पार्टी अपनी पूरी ताकत लोकसभा चुनाव के लिए फूंक देगी। इसके लिए केंद्रीय नेतृत्व प्रदेश संगठन को लोकसभा चुनाव को फोकस में रखते हुए नए कार्यक्रम देगा।
इन कार्यक्रमों के साथ प्रदेश में भाजपा नए एक्शन में दिखेगी। राज्य की पांचों लोकसभा सीटों पर अपना वर्चस्व बनाने के लिए अभी पार्टी का दो प्रमुख कार्यक्रमों पर फोकस है।

पार्टी के प्रदेश महामंत्री कोठारी का कहना है कि पांच राज्यों के चुनाव परिणाम के बाद सांगठनिक गतिविधियों को लेकर केंद्रीय नेतृत्व से नए दिशा-निर्देश प्राप्त होंगे।

एसटी वर्ग को भाजपा से जोड़ने का संकल्प

पार्टी एक दिसंबर को विकासनगर और तीन दिसंबर को नानकमत्ता में अनुसूचित जनजाति वर्ग से जुड़े नेताओं और कार्यकर्ताओं का सम्मेलन करने जा रही है। पार्टी का मानना कि लोकसभा चुनाव में और बेहतर प्रदर्शन करने के लिए उसे अनुसूचित जनजाति वर्ग को अपने साथ जोड़ना होगा।

पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा ने जो 23 विस सीटें हारी हैं, उनमें चकराता, खटीमा, नानकमत्ता, बदरीनाथ, धारचूला में उसे हार का मुंह देखना पड़ा। इन सभी सीटें अनुसूचित जनजाति बहुल हैं या इनमें उनका प्रभाव है।

अनुसूचित जाति में पैठ बनाने की रणनीति

पार्टी की अनुसूचित जाति वर्ग में भी अपनी तगड़ी पैठ बनाने की रणनीति है, इसलिए हल्द्वानी और हरिद्वार में अनुसूचित जाति वर्ग से जुड़े कार्यकर्ताओं, नेताओं और इनसे जुड़े संगठनों के लोगों के साथ बड़े सम्मेलन होने हैं। दो दिसंबर को हल्द्वानी में एससी का सम्मेलन तय हो चुका है।
हरिद्वार में सम्मेलन की तिथि जल्द तय हो जाएगी। पहले यह सम्मेलन 30 नवंबर को होना था, लेकिन इस तारीख को मुख्यमंत्री नैनीताल में लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम करेंगे। इसके चलते सम्मेलन की नई तिथि तय जल्द होनी है।

संकल्प यात्रा में सांसद, विधायक को देने होंगे पांच-पांच दिन

भाजपा के सभी सांसदों, विधायकों, पंचायत और निकाय जनप्रतिनिधियों को विकसित भारत संकल्प यात्रा के लिए पांच-पांच दिन प्रवास करने के निर्देश दिए गए हैं।
इन कार्यक्रमों के जरिये जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र की जनता को केंद्र व राज्य सरकार की उपलब्धियों और विकास योजनाओं की जानकारी देंगे।
- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here