10.7 C
London
Thursday, February 29, 2024
spot_img
spot_img

किसानों के दिल्ली कूच से सीमाएं सील, 1000 करोड़ का कारोबार ठप; सब्जियों-फलों के बढ़ेंगे दाम

- Advertisement -spot_imgspot_img

ख़बर रफ़्तार, चंडीगढ़:  पंजाब के किसान संगठनों के दिल्ली कूच का असर किचन से लेकर कारोबार तक पड़ रहा है। किसानों को पंजाब में ही रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने सोमवार को सभी बॉर्डर पूरी तरह से बंद कर दिए हैं। सभी जिलों से पंजाब जाने वाली बसें बंद कर दी गई हैं।

इससे हरियाणा में 1000 करोड़ का कारोबार प्रभावित हो चुका है। इसके अलावा सरकार को भी टोल और हरियाणा रोडवेज की बसें न चलने से हर रोज 10 करोड़ से ज्यादा का राजस्व का नुकसान हो रहा। हरियाणा से पंजाब(Punjab News) के लिए प्रतिदिन लगभग 400 बसें चलती हैं।

इनके बंद हो जाने के बाद राजस्व को तो नुकसान हुआ ही है। यात्रियों को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। यात्री निजी वाहनों से संपर्क मार्गों से पंजाब की ओर गए। निजी वाहनों ने किराया भी ज्यादा लिया। वहीं शंभू टोल प्लाजा भी बंद होने से हर रोज 50 लाख के राजस्व का नुकसान हो रहा। वहीं, पंजाब रोडवेज ने भी हरियाणा की ओर जाने वाले करीब 100 रूट बंद कर दिए हैं।

ज्यादा दिन बंद रहा तो बढ़ेंगे सब्जियों-फलों के दाम

ज्यादा दिन बंद रहा तो प्रदेश में सब्जियों-फलों के बढ़ सकते हैं दाम प्रदेश की मंडी में सब्जियां पहुंचा जा रही हैं और आपूर्ति की जा रही है। यदि पंजाब की सीमा अधिक दिन तक बंद रही तो सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी हो सकती है। पंजाब सीमा स्थित शंभू बार्डर समेत पंजाब से हरियाणा में प्रवेश करने वाले रास्तों को बंद कर दिया गया। किसान आंदोलन के चलते पंजाब से किसान हरियाणा में प्रवेश ना कर सके। ऐसे में पंजाब से आने वाली सब्जियाें पर भी ब्रेक लग गया।

किसान आंदोलन में शामिल होने वाले किसानों के खिलाफ गांव-गांव में जाकर चेतावनी दी जा रही है, वह तानाशाही है। किसान आंदोलन में शामिल होने वालों के पासपोर्ट को रद करने की धमकी देना मौलिक अधिकारों का हनन है। आम आदमी पार्टी किसानों की मांगों का समर्थन करती है और तन मन धन से किसानों की सेवा करने का काम करेगी। -अनुराग ढांडा, वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष, आम आदमी पार्टी।

सोनीपत: कुंडली और औचंदी बार्डर पर बैरिकेडिंग खरखौदा बवाना स्टेट हाईवे पर औचंदी बॉर्डर में सोमवार सुबह आधा घंटा बॉर्डर बंद करके व्यवस्थाएं परखी गई। यहां ड्रोन से निगरानी और वीडियोग्राफी शुरू कर दी गई है। सोनीपत जिले के अंतर्गत आने वाले सभी छह स्टेशनों गन्नौर, राजलूगढ़ी, सांदल कलां, सोनीपत जंक्शन, हरसाना कलां, राठधना पर आरपीएफ और जीआरपी के जवानों की ड्यूटी बढ़ा दी गई है।

यह भी पढ़ें:- उत्तराखंड के अस्तित्व में जल्द आएगी पर्यटन पुलिस, गृह मंत्री अमित शाह ने दिया था जोर

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here