10.7 C
London
Thursday, February 29, 2024
spot_img
spot_img

हल्द्वानी हिंसा में जारी है कार्रवाई, शस्त्रों के लाइसेंस निरस्त; छावनी में तब्दील इलाका

- Advertisement -spot_imgspot_img

ख़बर रफ़्तार, हल्द्वानी:  बनभूलपुरा में वैध व अवैध असलहों से फायर झोंकना उपद्रवियों को महंगा पड़ गया है। डीएम वंदना ने लाइसेंसी शस्त्रों के दुरुपयोग की आशंका को देखते हुए 120 लोगों के 127 शस्त्र लाइसेंस अग्रिम आदेश तक निरस्त कर दिए हैं। एसएसपी को 24 घंटे के अंदर शस्त्रों व लाइसेंस को कब्जे में लेने के निर्देश दिए हैं।

आठ फरवरी को मलिक के बगीचे में अवैध मरदसा व नमाजस्थल तोड़ने के दौरान उपद्रवियों ने कानून को अपने हाथ में लेने का प्रयास किया। पथराव के बाद आगजनी की। बनभूलपुरा थाना फूंका। पुलिस ने शनिवार से उपद्रवियों की धरपकड़ शुरू की थी।

अब तक हल्द्वानी में हुई हिंसा में 30 उपद्रवियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि 150 से अधिक संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है, जिन्हें कुंवरपुर गौलापार स्थित एक इंटर कॉलेज में बनाई अस्थायी जेल में पूछताछ के लिए रखा गए है। एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि उपद्रवियों की धरपकड़ के लिए घरों में दी जा रही है।

127 लाइसेंस हुए निरस्त

एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि असलहों से फायर करने वालों को चिह्नित किया है। 120 लोगों के 127 लाइसेंस निरस्त करने की रिपोर्ट डीएम को भेजी थी। सोमवार को डीएम ने आदेश जारी कर शस्त्र के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। बताया कि मंगलवार शाम तक लाइसेंस शस्त्रों व लाइसेंस को कब्जे में ले लिया जाएगा। सोमवार को देर शाम तक 20 शस्त्र को पुलिस ने जाम करवा लिया है।

छावनी में तब्दील है इलाका

बनभूपुरा में पैरामिलिट्री फोर्स का पहरा बढ़ाया गया बनभूलपुरा में पैरामिलिट्री फोर्स का पहरा बढ़ गया है। सीओ नितिन लोहनी ने बताया कि शासन की ओर से मांगी गई चार कंपनी आईटीबीपी रविवार रात पहुंच गई थी। कंपनी ड्यूटी प्वाइंट पर पहुंच गई है। बनभूलपुरा में एसएसबी व आइटीबीपी की कई कंपनियां हैं। इसके अलावा भारी पुलिस व पीएसी लगाई है। फोर्स बढ़ने से कर्मचारियों को आठ-आठ घंटे ड्यूटी करनी पड़ रही बनभूलपुरा वालों को कर्फ्यू से एक घंटे की छूट जहां उपद्रव हुआ था, वहां लोग घरों में कैद हैं। इसका कारण क्षेत्र में कर्फ्यू जारी रहना है। प्रशासन व पुलिस ने लोगों को जरूरी सामग्री खरीदने के लिए एक घंटे की छूट दी है।

चेहरे पर मास्क, हाथ में पेट्रोल बम और जुबां पर गाली

बनभूलपुरा थाने पर उपद्रवियों ने सुनियोजित ढंग से हमला किया था। थाना फूंकने का एक और वीडियो इंटरनेट मीडिया में प्रसारित हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि आगजनी व पथराव कर रहे अधिकांश ने चेहरे पर मास्क लगा रखा है, ताकि कोई उनका चेहरा नहीं पहचान सके। पेट्रोल बम थाने में फेंक रहे हैं। मुंह से गाली भी बोलते जा रहे हैं।

संवेदनशील स्थलों पर पुलिस ने तेज की संदिग्धों की तलाशी

बनभूलपुरा कांड के बाद डाग स्क्वायड व बम निरोधक दस्ता भी अलर्ट हो गया है। सोमवार को टीम ने संवेदनशील स्थलों पर संदिग्धों की तलाशी ली। रोडवेज में यात्रियों के बैगों को चेक किया। रेलवे स्टेशन में भी टीम जांच को गई।

स्कूल व कॉलेज में एक प्रतिशत ही उपस्थिति

तीन दिन बंद रहने के बाद सोमवार को स्कूल खुले तो कर्फ्यू ग्रस्त क्षेत्र बनभूलपुरा के समीप स्थित महात्मा गांधी इंटर कॉलेज में डर के माहौल के बीच कुछ ही विद्यार्थी पढ़ने पहुंचे। यहां विद्यार्थियों की उपस्थिति एक प्रतिशत से भी कम रही। यही नहीं, भौतिक विज्ञान की 16 विद्यार्थियों ने प्रयोगात्मक परीक्षा छोड़ दी। बनभूलपुरा में बवाल होने के चलते प्रशासन की ओर से स्कूल बंद करने के आदेश दिए गए थे। सोमवार से कर्फ्यू ग्रस्त इलाके को छोड़कर हल्द्वानी में 700 से अधिक स्कूल खुले रहे।

यह भी पढ़ें:- किसानों के दिल्ली कूच से सीमाएं सील, 1000 करोड़ का कारोबार ठप; सब्जियों-फलों के बढ़ेंगे दाम

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here