14 C
London
Wednesday, May 22, 2024
spot_img

मदर्स डे 2024: मां के लिए बेस्ट कविता, मदर्स डे पर ये 10 लाइनें दिल जीत लेंगी

ख़बर रफ़्तार, देहरादून:  12 मई को मदर्स डे 2024 है। हर साल मई के दूसरे रविवार को दुनिया भर में Mother’s Day के रूप में मनाया जाता है। मां से अपने प्यार का इजहार करने का.. अपनी जिंदगी में मां को उसकी अहमीयत बताने का… वो आपके लिए कितनी खास है.. ये एहसास कराने का ये बेहतरीन मौका है। आपकी भावनाओं को अलफाज़ देने के लिए आप कुछ प्रसिद्ध कवियों की रचनाओं का सहारा ले सकते हैं। मां पर तो ना जाने कितनी कविताएं, कितने शेर लिखे गए हैं। यहां कुछ चुनिंदा पंक्तियां प्रस्तुत की गई हैं।

आज मेरा फिर से मुस्कुराने का मन किया,
माँ की ऊँगली पकड़कर घूमने जाने का मन किया।
– हरिवंश राय बच्चन

Best Lines for Mother

 उंगलियाँ पकड़कर माँ ने मेरी मुझे चलना सिखाया है,
खुद गीले में सोकर माँ ने मुझे सूखे बिस्तर पे सुलाया है।
– हरिवंश राय बच्चन
Mother’s Day Poem हिन्दी में
मेरी तकलीफ में मुझ से ज्यादा मेरी माँ ही रोयी है,
खिला-पिला के मुझको माँ मेरी, कभी भूखे पेट भी सोयी है।
– हरिवंश राय बच्चन

मां के लिए शायरी
मैं बताता हूं कभी पेड़ों से मत पूछना
कि फल देने में वो क्या क्या सहते हैं
जिसने अपनी कोख से औलाद जन्मी हो
उसे मत बताना
कि बर्दाश्त करना किसे कहते हैं
– मनोज मुंतशिर

Mother’s Day Shayari

जब भी कश्ती मिरी सैलाब में आ जाती है
माँ दुआ करती हुई ख़्वाब में आ जाती है
– मुनव्वर राना

मदर्स डे बेस्ट मैसेज
कभी खिलौनों से खिलाया है, कभी आँचल में छुपाया है,
गलतियाँ करने पर भी माँ ने मुझे हमेशा प्यार से समझाया है।
– हरिवंश राय बच्चन

मदर्स डे शायरी
हिसाब लगा के देख लो
दुनिया के हर रिश्ते में कुछ अधूरा आधा निकलेगा
एक मां का प्यार है
जो दूसरों से 9 महीने से ज्यादा निकलेगा।
– मनोज मुंतशिर

Maa ke liye Kavita
जो करना है आज करो
कल सूरज सर पे पिघलेगा
तो याद करोगे कि
मां से घना कोई दरख़्त नहीं था
इस पछतावे के साथ कैसे जीओगे
कि वो तुमसे बात करना चाहती थी
और तुम्हारे पास वक्त नहीं था।
ठहर के ये सोचने का वक्त कहाँ है
कि माँ आज भी तुम्हारे इन्तजार में जागती है।
– मनोज मुंतशिर

हैप्पी मदर्स डे विश

चलती फिरती हुई आँखों से अज़ाँ देखी है

मैं ने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है– मुनव्वर राना

मां के लिए कविता
कल अपने-आप को देखा था माँ की आँखों में
ये आईना हमें बूढ़ा नहीं बताता है
– मुनव्वर राना

ये भी पढ़ें…केदारनाथ धाम: प्रशासन से वार्ता के बाद केदारनाथ में खुले बाजार, घोड़े खच्चरों का संचालन भी शुरू

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here