11.7 C
London
Monday, May 27, 2024
spot_img

केदारनाथ धाम: प्रशासन से वार्ता के बाद केदारनाथ में खुले बाजार, घोड़े खच्चरों का संचालन भी शुरू

ख़बर रफ़्तार, रुद्रप्रयाग: यात्रा के पहले ही दिन केदारनाथ धाम के तीर्थपुरोहितों, व्यापारियों व घोड़ा खच्चर संचालकों की हड़ताल के बाद प्रशासन से वार्ता के पश्चात यात्रा के दूसरे दिन केदारनाथ में सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान पूर्ण रूप से खुले, तथा पैदल मार्ग पर भी घोड़े खच्चरों का संचालन नियमित रूप से हुआ।

भगवान केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के पहले दिन ही केदारनाथ के तीर्थपुरोहितों, व्यापारियों व घोड़ा खच्चर संचालकों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी थी। और पहले दिन ही सभी व्यापारिक प्रतिष्ठान भी बंद रहे।
जिसके बाद प्रशासन की तीर्थपुरोहितों, व्यापारियों व घोड़ा खच्चर संचालकों की गत देर रात्रि तक बैठकों का दौर चलता रहा। बैठक में प्रशासन ने मांगों का निराकरण का आश्वासन दिया गया, जिसके बाद अनिश्चतकालीन हड़ताल को वापस लेने का ऐलान किया गया।

विभिन्न मांगों के निराकरण की मांग

तीर्थपुरोहित केदारनाथ में आपदा के नाम से हो रहे निर्माण पर रोक लगाने, सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम के बीच प्रीपेड काउन्टरों हटाकर जिला पंचायत रुद्रप्रयाग को सौंपने, सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम तक अनावश्यक प्रशासनिक हस्तक्षेप पर रोक लगाने, वर्ष 2013 से पूर्व की भांति स्थानीय लोगों को स्वतंत्र रूप से आवागमन व व्यवसाय करने की पूर्ववत स्थिति बहाल करने, केदारनाथ धाम में हेली सेवाओं के संचालन में घोर अनियमितता पर लगाम लगाने, समेत विभिन्न मांगों के निराकरण की मांग कर रहे हैं।

केदारसभा के अध्यक्ष राजकुमार तिवारी ने कहा कि विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रशासन को पूर्व में ही अवगत कराया गया था, प्रशासन के साथ वार्ता सकारात्मक रही, जिसके बाद केदारनाथ धाम में सभी व्यापारियों, तीर्थपुरोहितों ने अपने प्रतिष्ठान गत रात्रि को ही खोल दिए थे।

वहीं जिलाधिकारी सौरभ गहरवार ने भी वीडियो संदेश जारी कर कहा कि कुछ तीर्थपुरोहितों का कहना था कि पूर्व की आपदा में जो नुकसान हुआ था, उनके मुआवजा व भवन आवंटन की कार्रवाई त्वरित गति से की जाए।

43 अनुबंध के सापेक्ष 250 तीर्थपुरोहितों को भवन आवंटित की कार्रवाई की जा रही है। जिनके भवन हुए है उनको मुआवाजा त्वरित गति से करने की मांग की गई थी, जिसमें कमेटी गठित की गई है। आने जाने के लिए हेली टिकट की मांग की थी, जिस पर भी कार्रवाई की गई है।

ये भी पढ़ें…उत्तराखंड के कई जिलों में पड़ सकती है बौछारें, आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी जारी

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here