25.6 C
London
Tuesday, June 25, 2024
spot_img

देशभर में उत्तराखंड के कॉलेजों का डंका, यहां पढ़ना चाहते हैं 24 राज्‍यों के युवा

ख़बर रफ़्तार, देहरादून: प्रदेश के उच्च शिक्षण संस्थानों में केंद्र सरकार के पोर्टल समर्थ के माध्यम से स्नातक कक्षाओं में आनलाइन प्रवेश प्रक्रिया में पंजीकरण कराने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या 50 हजार के पार हो गई।

देश के 24 राज्यों के विद्यार्थियों ने प्रवेश के लिए आवेदन किया है। प्रवेश के लिए राजकीय महाविद्यालय छात्र-छात्राओं की पहली पसंद बन रहे हैं।

प्रदेश में कुमाऊं विश्विद्यालय, श्रीदेव सुमन विश्विद्यालय एवं सोबन सिंह जीना एवं संबद्ध राजकीय, सहायताप्राप्त अशासकीय एवं निजी महाविद्यालयों में स्नातक कक्षा में शुक्रवार को प्रवेश पंजीकरण के अंतिम दिन लगभग 6000 से अधिक आवेदन प्राप्त हुए।

कुल 50 हजार से ज्यादा अभ्यर्थियों ने स्नातक प्रवेश को पंजीकरण कराया है। यह आंकड़ा बढ़ सकता है। कुल पंजीकृत अभ्यर्थियों में 60 प्रतिशत छात्राएं एवं 40 प्रतिशत छात्र हैं।

राजकीय शिक्षण संस्थान छात्र-छात्राओं की पहली पसंद बनकर उभरे

समर्थ पोर्टल पर राजकीय शिक्षण संस्थान छात्र-छात्राओं की पहली पसंद बनकर उभरे हैं। इनमें 66 प्रतिशत पंजीकरण कराए गए। राज्य विश्वविद्यालय एवं परिसरों के लिए 18 प्रतिशत एवं अशासकीय महाविद्यालयों और निजी महाविद्यालयों में आठ प्रतिशत छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया। सबसे अधिक कुमाऊं विश्वविद्यालय में 20,200 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया, वही श्रीदेव सुमन विश्विद्यालय में 19,300 और सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में 9500 छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया है।

ऊधम सिंह नगर जिले में सर्वाधिक 8199 विद्यार्थियों ने प्रवेश के लिए आवेदन किया है। राजकीय महाविद्यालयों में सर्वाधिक प्रवेश पंजीकरण एमबीपीजी महाविद्यालय, हल्द्वानी में हुआ है। शनिवार से स्नातक कक्षाओं में प्रवेश के लिए काउंसिलिंग प्रारंभ होगी। राज्य के उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश को 24 राज्यों के अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।

स्नातक प्रवेश को सबसे अधिक आवेदन उत्तर प्रदेश, बिहार दिल्ली, हरियाणा से प्राप्त हुए। इसके अतिरिक्त मेघालय, मणिपुर, केरल, कर्नाटक, कश्मीर, पंजाब हरियाणा सहित अंडमान निकोबार से भी आवेदन प्राप्त हुए हैं। उच्च शिक्षा सचिव शैलेश बगोली ने कहा कि गुणवत्तापरक उच्च शिक्षा के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। छात्रों के लिए किए जा रहे विभिन्न प्रयास सकारात्मक परिणाम दे रहे हैं। राजकीय महाविद्यालयों के प्रति बढ़ता रुझान इसका प्रमाण है।

ये भी पढ़ें…हाथरस में 2.55 घंटे रुकीं राज्यपाल, हींग और हैंडीक्रॉफ्ट के कारोबार जानकारी ली

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here