6.2 C
London
Tuesday, April 23, 2024
spot_img

8318.90 लाख रुपये से बन रहे पुल के दो बीम गिरे, बुलंदशहर-अमरोहा को जोड़ने के लिए चल रहा था निर्माण

ख़बर रफ़्तार, बुलंदशहर: जिले की स्याना तहसील के ऊंचागांव विकास क्षेत्र के मडैया माली गांव में गंगा नदी पर निर्माणाधीन पक्के पुल के दो बीम नीचे गिर गए, जबकि तीसरा बीम क्षतिग्रस्त हो गया।

अमरोहा को जोड़ने के लिए बन रहा था

उत्तर प्रदेश राज्य सेतू निगम लिमिटेड ने इंजीनियरिंग प्रोक्योरमेंट मेंथड एंड कंस्ट्रक्शन यानी ईपीसी मोड पर एडिकोन कंपनी को गंगा नदी पर बुलंदशहर के मडैया माली से अमरोहा के बीरामपुर के बीच पुल बनाने का ठेका 8318.90 लाख रुपये में दिया गया था। दिसंबर 2021 में बुलंदशहर और अमरोहा को जोड़ने के लिए मडैया माली और बीरामपुर के बीच गंगा नदी पर 1062.65 मीटर की लंबाई के पुल का निर्माण कार्य की शुरूआत हुई थी। इसमें 33 पिलर का निर्माण होना था और उन पर बीम डालकर सड़क को बनाया जाना था।

इसी बीच बीरामपुर में गंगा का कटान होने के कारण दो पिलर और बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया था, लेकिन शासन से स्वीकृति नहीं मिली। पुल पर 33 पिलर का निर्माण पूरा होने के बाद बीम डालने का काम किया जा रहा था। अमरोहा के बीरामपुर में बीम डालने का काम करीब 20 दिन पहले पूरा कर लिया गया था।

दो बीम टूटकर नीचे गिरे

शनिवार की सुबह छह बजे अमरोहा के बीरामपुर में दो बीम टूटकर नीचे गिर गए और तीसरा क्षतिग्रस्त हो गया। इस पर एडिकोन कंपनी के काम कर रहे इंजीनियर, अधिकारी व मजदूर भाग खड़े हुए। ग्रामीण मौके पर पहुंचे और अधिकारियों को घटना से अवगत कराया। ग्रामीणों ने पुल निर्माण में घटिया सामग्री का प्रयोग किए जाने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया।

इस संबंध में गाजियाबाद में उत्तर प्रदेश राज्य सेतू निगम लिमिटेड के परियोजना प्रबंधक शशि भूषण वार्ष्णेय ने बताया कि ईपीसी मोड में पुल का निर्माण एडिकोन कंपनी कर रही है। बीम गिरने की सूचना मिली है। मौके पर पहुंचकर जांच की जाएगी।

डीएम ने जांच के लिए गठित की टीम

उधर, डीएम चंद्रप्रकाश सिंह ने बताया कि बुलंदशहर व अमरोहा को जोड़ने के लिए गंगा नदी पर निर्माणाधीन पुल पर तीन बीम क्षतिग्रस्त होने हो गए है। इसकी जांच के लिए मुख्य विकास अधिकारी के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर दिया गया है। सेतू निगम के इंजीनियर मौके पर पहुंच गए है। पूरे मामले की जांच कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। घटना के दौरान कोई जनहानि नहीं हुई है।

ये भी पढ़ेंः गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा प्रधान गिल ने बाबा तरसेम सिंह की निर्मम हत्या की निंदा

लोक निर्माण विभाग के विभागाध्यक्ष वीके श्रीवास्तव का कहना है की जांच कमेटी का गठन किया जा रहा है, मौके पर तैनात सेतु निगम के अधिकारियों से आज ही रिपोर्ट मांगी गई है रिपोर्ट आते ही जांच कमेटी का गठन कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। सेतु निगम के प्रबंध निदेशक धर्मवीर का कहना है कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है। पुल का निर्माण ईपीसी मोड पर करवाया जा रहा था। मामले की जांच के बाद ही कहा जा सकेगा की निर्माणाधीन पुल के हादसे की वजह क्या है?

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here