12.1 C
London
Monday, April 15, 2024
spot_img

स्वामी प्रसाद मौर्य ने नई पार्टी का किया ऐलान, राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी के नाम से की पार्टी गठित

ख़बर रफ़्तार, लखनऊ:  स्वामी प्रसाद मौर्य ने राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी (RSSP) के नाम से पार्टी बनाई। स्वामी प्रसाद मौर्य 22 फरवरी को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में प्रतिनिधि कार्यकर्ता सम्मलेन को संबोधित करेंगे। स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपनी पार्टी का झंडा लॉन्च किया है। स्वामी प्रसाद मौर्या ने 13 फरवरी को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को लेटर लिखकर सपा के राष्ट्रीय महासचिव पद से इस्तीफा दिया था।

स्वामी प्रसाद मौर्या ने जिस पार्टी का किया ऐलान 2013 में बनाई गई थी

स्वामी प्रसाद मौर्या ने जिस पार्टी का ऐलान किया है, वो 2013 में बनाई गई पार्टी है। अलीगढ़ के रहने वाले साहेब सिंह धनगर ने ये पार्टी बनाई थी। साहेब सिंह धनगर 1993 में बसपा से विधानसभा चुनाव लड़े थे। 2002 में सपा से लड़े थे। 2013 में इन्होंने RSSP बनाई। 2014, 2017 और 2019 का चुनाव में पार्टी ने प्रत्याशी उतारे। 2020 में इन्होंने इंडियन डेमोक्रेटिक अलायंस IDA बनाया। जिसमेमं कई छोटे दल साथ आए।

स्वामी प्रसाद का नारा ‘पच्चीस तो हमारा है, 15 में भी बंटवारे’

अखिलेश यादव को लिखे पत्र में मौर्य ने कहा था कि जब से मैं समाजवादी पार्टी में शामिल हुआ हूं, लगातार जनाधार बढ़ाने की कोशिश की है। जिस दिन मैं सपा में शामिल हुआ था उस दिन मैंने ‘पच्चीस तो हमारा है, 15 में भी बंटवारे’ का नारा दिया था। हमारे महापुरुषों ने भी इसी तरह की लाइन खींची थी। इसके साथ ही उन्होंने चिट्ठी में कई और बड़े नेताओं के नारे का जिक्र किया था। उन्होंने लिखा कि पार्टी की ओर से हमारे नारे को निष्प्रभावी बनाने की कोशिश की जा रही है। वहीं, पार्टी के नेता मेरे को निजी बताकर खारिज कर रहे हैं। 2022 विधानसभा चुनाव में बढ़ें विधायक

स्वामी प्रसाद मौर्या ने अखिलेश यादव का जताय अभार

उन्होंने आगे लिखा था कि 2022 विधानसभा चुनाव में सैकड़ों उम्मीदवारों का पर्चा और सिंबल दाखिल किए जाने के बाद अचानक किए बदलाव के बाद भी हम पार्टी का जनाधार बढ़ाने में सफल रहे। उसी का परिणाम था सपा के विधायकों की संख्या बढ़ गई। एक समय कहां 45 विधायक थे, जबकि 2022 के विधानसभा चुनाव में इनकी संख्या 110 पहुंच गए। उन्होंने कहा कि विधायकों की संख्या बढ़ने के बाद भी आपने मुझे विधान परिषद में भेजा और ठीक इसके बाद राष्ट्रीय महासचिव बनाया। इस सम्मान के लिए आपको बहुत- बहुत धन्यवाद।

ये भी पढ़ें…रविंद्र जडेजा के नाम दर्ज हुआ यह खास रिकॉर्ड, इस मामले में अनिल कुंबले की कर ली बराबरी

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here