21.7 C
London
Monday, June 17, 2024
spot_img

हल्द्वानी में आवारा पशु बन रहे मुसीबत, कई लोग गंवा चुके जान, नगर निगम के अधिकारी दे रहे ये दलील

ख़बर रफ़्तार, हल्द्वानी: शहर की सड़कों पर इन दोनों आवारा पशुओं का आतंक है, आवारा पशुओं के हमले से लोग घायल हो रहे हैं तो कई लोगों की जान तक जा चुकी है. आवारा पशुओं से निपटने के लिए हल्द्वानी नगर निगम ने गौ रक्षक सेवा दल भी बना रखा है, लेकिन गौ रक्षक सेवा दल भी इन आवारा पशुओं को पकड़ नहीं पा रहा है. बताया जा रहा कि गौ रक्षक सेवा दलों को मानसून के चलते नाले और नाली के सफाई में लगाया गया है. आवारा पशुओं का सड़कों पर आतंक व्याप्त है, जिससे आम जनता परेशान है. शहर की सड़कों पर झुंड में आवारा पशु साफ देखे जा सकते हैं.

नगर निगम प्रशासन शहर की सड़कों से आवारा जानवर हटा पाने में नाकाम साबित हुआ है. जब भी सवाल उठाए गए तो नगर निगम स्थायी गौशाला बनाए जाने की बात कहकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लेता है. यहां तक की नगर निगम के अधिकारी लोगों पर ही आरोप लगा रहे हैं कि ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपने पशुओं को शहर मिलकर छोड़ देते हैं.

लगातार हो हो रही आवारा पशुओं से दुर्घटनाओं में लोग अकाल मौत का शिकार बन रहे हैं. नगर निगम के मुख्य नगर आयुक्त विशाल मिश्रा का कहना है नगर निगम द्वारा गंगापुर कबडवाल गांव में स्थायी गौशाला का निर्माण तेजी से किया जा रहा है और हल्द्वानी शहर में दो अस्थायी गौशालाओं को बनाया गया है, जिनमें आवारा पशुओं की संख्या लगभग पूरी हो चुकी है. जल्द नई गौशाला शुरू कर दी जाएगी, इसके बाद आवारा जानवरों को पकड़ने का काम शुरू किया जाएगा. सड़कों पर गौवंश लोगों के लिए मुसीबत बन रहे हैं.

पढ़ें- उधमसिंह नगर जिला योजना की बैठक में 74 करोड़ रुपए का परिव्यय हुआ अनुमोदित

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here