10.1 C
London
Thursday, February 22, 2024
spot_img
spot_img

पीएसी कर्मी को अनजान युवती पर भरोसा पड़ा महंगा, गंवा बैठा 2 लाख रुपये, साइबर ठगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज

- Advertisement -spot_imgspot_img

खबर रफ़्तार ,रुद्रपुर : 31वीं वाहिनी पीएसी में तैनात कांस्टेबल को पुराने नोट-सिक्के खरीदने का विज्ञापन फेसबुक में देखना महंगा पड़ गया। उसने दिए गए नंबर पर संपर्क किया तो उसे झांसा देकर 2.97 लाख की धोखाधड़ी कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात साइबर ठगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पीएसी में आरक्षी है पीड़ित

ग्राम बेड़ाफोखरा पोस्ट देवलचौड़ हल्द्वानी निवासी कुंदन सिंह अधिकारी ने सौंपी तहरीर में कहा था कि वह 31वीं वाहिनी पीएसी की सी कंपनी में आरक्षी पद पर तैनात है। उसका फेसबुक में कुंदन अधिकारी नाम से अकाउंट बना हुआ है। उसे पुराने नोट-सिक्के कलेक्ट करने का शौक है। 22 मई 2022 को उसने ओल्ड क्वॉयन बायर का विज्ञापन देखा। जिसमें पुराने सिक्के व नोट खरीदने के लिए मोबाइल नंबर दिया था। इस पर उसने मोबाइल नंबर सेव कर लिया।

युवती ने लिया झांसे में

मोबाइल नंबर में एक युवती की डीपी लगी हुई थी। उसने जमा किए गए पुराने सिक्के और नोट उस नंबर पर भेज दिया। युवती ने नोट व सिक्कों की कीमत 15266900 रुपये बताते हुए कंपनी के चयन के लिए धन्यवाद चैट किया। उसके बाद एग्रीमेंट पेपर चार्ज के नाम पर 599 रुपये जमा करने को लिखा। युवती पर विश्वास न होने की बात कहने पर उसने अपना आईडी, पैन कार्ड, आधार कार्ड व बिजनेस लाइसेंस भेजा। जिसमें उसका नाम रश्मि तोमर लिखा था। इस पर उसने रजिस्ट्रेशन के लिए 599 रुपये जमा कर दिए।

दो लाख रुपये देने के बाद मांग रही थी पैसे

बाद में रश्मि तोमर ने उसे एक नंबर देते हुए उसमें संपर्क करने को कहा। जहां उसे एग्रीमेंट चार्ज, फाइल, इनकम टैक्स, सेल्स टैक्स, आरबीआई चार्ज, जीएसटी का चार्ज जमा करने को कहा गया। उन पर विश्वास कर उसने 22 मई से 15 जून के मध्य 2,09,731 रुपये की धनराशि उनके बताए खाते में जमा कर दी। बावजूद इसके वह और रुपये मांगने लगी। उसे ठगी का एहसास हुआ तो साइबर थाना पुलिस से शिकायत की गई। पुलिस ने अज्ञात साइबर ठगों के विरुद्ध केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here