21.8 C
London
Tuesday, June 25, 2024
spot_img

शपथ ग्रहण समारोह के न्योते पर मचे बवाल के बीच खरगे को आमंत्रण; प्रह्लाद जोशी ने किया फोन

ख़बर रफ़्तार: विपक्षी दलों को नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह का न्योता न मिलने पर विपक्षी नेताओं ने बवाल मचाया था। जिसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को निमंत्रण भेजा गया है।

कांग्रेस नेता और राज्य में विपक्षी दल के नेता मल्लिकार्जुन खरगे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का निमंत्रण मिला है। भाजपा नेता प्रहलाद जोशी ने शनिवार रात खरगे को निमंत्रण दिया था। आज शाम 7:15 बजे नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। उनके शपथ ग्रहण समारोह में देश और विदेश के कई दिग्गज नेता शामिल होंगे। कई को शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रण भी दिया गया है।

इसी बीच कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने बताया कि उन्हें शपथ ग्रहण समारोह का निमंत्रण दिया गया है। उन्होंने बताया कि भाजपा नेता प्रहलाद जोशी ने कल देर रात निमंत्रण दिया था। उन्होंने बताया कि वे इसमें शामिल होंगे।

वहीं ममता बनर्जी ने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की बात पर कहा कि न तो उन्हें आमंत्रित किया गया है, न ही वो इस समारोह में शामिल होंगी। उन्होंने कहा कि मुझे खेद है कि लेकिन मैं एक असंवैधानिक, अवैध पार्टी को सरकार बनाने के लिए शुभकामनाएं नहीं दे सकती, मेरी शुभकामनाएं देश के लिए होंगी। लोकसभा में पार्टी के नेता सुदीप बंद्योपाध्याय ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होगी। बंद्योपाध्याय ने कहा, “भाजपा नेता प्रह्लाद जोशी ने हमें फोन करके शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था, लेकिन हमारी पार्टी ने इसमें शामिल नहीं होने का फैसला किया है।”

वहीं कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी नेताओं को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए कोई निमंत्रण नहीं मिला है। उन्होंने लिखा था कि हमें सरकार से कोई सूचना नहीं मिली है, जबकि विदेशी नेताओं को आमंत्रित किया गया है। विपक्षी दल और इंडी गठबंधन होने के नाते हमें सूचित नहीं किया गया, मुझे नहीं पता कि सरकार का मूड क्या है?

इसके अलावा कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने बताया कि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए केवल अंतरराष्ट्रीय नेताओं को ही आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा यदि उन्हें निमंत्रण मिलता तो वे इसमें शामिल होने पर विचार करेंगे।

भाजपा नेता नरेंद्र मोदी तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। बता दें कि इस समारोह के लिए सुरक्षा उपाय किए जा चुके हैं। राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा के लिए अर्धसैनिक बलों की पांच कंपनियां तैनात हैं।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here