8 C
London
Tuesday, April 16, 2024
spot_img

देहरादून: ऐतिहासिक झंडेजी का आरोहण आज, साक्षी बनेंगे लाखों श्रद्धालु

ख़बर रफ़्तार, देहरादून: प्रेम, सद्भाव व आस्था का प्रतीक ऐतिहासिक झंडा मेला श्री गुरु राम राय दरबार साहिब में 86 फीट ऊंचे व 30 इंच मोटाई झंडेजी के आरोहण के साथ आज से शुरू हो जाएगा। झंडेजी को उतारने के बाद पूजा व गिलाफ चढ़ाने की दिनभर चलने वाली प्रक्रिया के बाद दोपहर दो से शाम चार बजे के बीच दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज की अगुआई में झंडेजी का आरोहण होगा।

17 अप्रैल रामनवमी तक चलेगा मेला

होली के पांचवें दिन चैत्र मास के कृष्ण पंचमी को दरबार साहिब में झंडेजी के आरोहण के साथ मेला शुरू हो जाता है। जिसमें देश विदेश की काफी संख्या में सगत पहुंचती है। इस बार 17 अप्रैल रामनवमी तक मेला चलेगा। शुक्रवार को उत्तराखंड के विभिन्न जिलों के अलावा पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश से अधिकांश संगत दरबार साहिब पहुंची। श्री झंडा जी मेला आयोजन समिति की ओर से देर शाम तक सभी तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया। दरबार साहिब परिसर में दुकानें भी सज चुकी हैं।

आज नित्य पूजा-क्रम के बाद दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज ने संगतों को दर्शन देकर उन्हें गुरु महाराज के बताए रास्ते पर चलने का संदेश देंगे। श्री झंडा जी मेला आयोजन समिति के सह व्यवस्थापक विजय गुलाटी ने बताया कि इस ग्राम अहराणा कला, जिला होशियारपुर पंजाब के हरभजन सिंह का परिवार दर्शनी गिलाफ चढ़ाएगा। 108 वर्ष पूर्व उनके स्वजन ने यह बुकिंग कराई थी।

वहीं झंडेजी के आरोहण की पूर्व संध्या पर शनिवार को पूरब की संगत को पगड़ी, ताबीज व प्रसाद वितरित विदाई दी गई। वहीं झंडेजी के आरोहण के सजीव प्रसारण के लिए विभिन्न जगहों पर पांच एलईडी स्क्रीन लगाई गई है। दरबार साहिब के यू्ट्यूब पर फेसबुक पर भी सीधा प्रसारण होगा। वहीं, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के ब्लड बैंक की ओर से स्वैच्छिक रक्तदान शिवर में 75 यूनिट रक्तदान हुआ।

गुुरु महाराज के जयकारों से गूंजा दरबार परिसर

शनिवार को दिनभर श्री गुरु राम राय जी महाराज व श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज के जयकारों से दरबार परिसर गूंज उठा। संगत ने ढोल की थाप पर नृत्य कर भजन गाए। इसके अलावा संगत ने श्री गुरु राम राय महाराज के शबद का सिमरन किया व गुरु महिमा के महत्व को जाना।

प्राकृतिक रंगों से सजी दीवार, दूधिया रोशनी से नहाया दरबार

दरबार साहिब के द्वार व अन्य दीवारों पर बनाई कलाकृतियों को प्राकृतिक रंगों से सजाया गया है। जो दिखने में खास है। इसके अलावा दरबार साहिब को झालर व लडिय़ों से सजाया गया है। देर शाम को पूरा दरबार परिसर दूधिया रोशनी से नहाता नजर आया। दरबार साहिब परिसर में स्थित पवित्र सरोवर जीर्णोद्धार के बाद बेहद आकर्षण का केंद्र बना है।

आज इस तरह रहेगा कार्यक्रम

श्री झंडा जी मेला आयोजन समिति के विशेष कार्याधिकारी राजेंद्र ध्यानी ने बताया कि सुबह आठ से नौ बजे दरबार साहिब के सज्जादानशीन श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज की अगुआई में झंडेजी को उतारने की प्रक्रिया के बाद दूध, दही, गंगाजल से ध्वजदंड (झंडेजी) को स्नान कराया गया। 10 बजे से सादे, सनील गिलाफ के बाद दर्शनी गिलाफ चढ़ाया चढ़ाकर चंवर गोटों से झंडेजी सजाए जाएंगे। दोपहर दो से चार बजे बजे के बीच झंडेजी के आरोहण के साथ ही मेला शुरू हो जाएगा। शाम को संगत गुरु महाराज का आशीर्वाद लेकर विदा होगी।

एक अप्रैल को होगी नगर परिक्रमा

मेला आयोजन समिति व सह व्यवस्थापक विजय गुलाटी ने बताया कि आज झंडेजी के आरोहण के बाद रविवार को दिनभर संगत का दरबार साहिब में माथा टेकने का क्रम जारी रहेगा। तीसरे दिन यानी सोमवार को दरबार साहिब के सज्जादानशीन देवेन्द्र दास महाराज की अगुआई में दरबार साहिब परिसर से सुबह साढ़े सात बजे से नगर प्ररिक्रमा शुरू होगी। विभिन्न जगहों पर संगत को पुष्पवर्षा कर स्वगात किया जाएगा व प्रसाद के विभिन्न स्टाल लगाए जाएंगे।

लोक कल्याण के लिए स्थापित किया था विशाल ध्वज

सिखों के सातवें गुरु श्री गुरु हरराय के बड़े पुत्र श्री गुरु राम राय महाराज ने वर्ष 1676 में दून में डेरा डाला था। उन्हें ही देहरादून का संस्थापक माना जाता है। उनका जन्म वर्ष 1646 में पंजाब के होशियारपुर जिले के कीरतपुर में होली के पांचवें दिन (चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की पंचमी को) हुआ था। इसीलिए दरबार साहिब में हर साल इस दिन झंडेजी के आरोहण के साथ मेला लगता है। श्री गुरु राम राय ने ही लोक कल्याण के लिए यहां विशाल ध्वज (झंडेजी) को स्थापित किया था।

जैविक उत्पादों के स्टाल पर खरीदारी

दरबार साहिब में श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के छात्रों ने जैविक उत्पादों के स्टाल लगाए गए हैैं। इसमें संगतों ने खूब खरीदारी की। संगतों की सेवा के लिए श्रीमहंत इन्दिरेश अस्पताल की चिकित्सकों की टीम भी तैनात है। श्रीमहंत इन्दिरेश अस्पताल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी भूपेंद्र रतूड़ी ने बताया कि रोगियों को निश्शुल्क दवा दी जा रही है। किसी भी तरह की घटना के लिए एंबुलेंस 24 घंटे उपलब्ध है।

दरबार साहिब में सज गई दुकानें

झंडा मेला के लिए दरबार साहिब परिसर में 200 से अधिक दुकानें सज गई हैैं। इनमें प्रमुख रूप से कास्मेटिक, पूजा का सामान, क्राकरी, गिफ्ट आइटम, खिलौने, खाने-पीने की दुकानें शामिल हैैं। इसके अलावा दर्शनी गेट के पास विभिन्न तरह के झूले लगाए गए हैं।

भंडारे की व्यवस्था को लगने लगे काउंटर

श्री झंडा जी मेला आयोजन समिति की ओर से दरबार साहिब में भव्य लंगर की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा विभिन्न सामाजिक व धार्मिक संगठनों की ओर से भी सहारनपुर चौक से लेकर दर्शनी गेट परिसर, तिलक रोड आदि जगहों पर भंडारे के लिए जगह जगह काउंटर सजाए जा रहे हैं।

श्रीमहंत ने समझाया गुरु महिमा का महत्व

मेले की पूर्व संध्या पर दरबार साहिब के सज्जादानशीन देवेन्द्र दास महाराज ने दरबार साहिब परिसर में संगत को दर्शन व आशीर्वाद दिए। उन्होंने गुरु महिमा का महत्व समझाया। कहा कि जो व्यक्ति गुरु के बताए मार्ग पर चलता है उसे पृथ्वी पर ही स्वर्ग की अनुभूति प्राप्त होती है। संगत ने गुरुमंत्र को आत्मसात कर आशीर्वाद प्राप्त किया।

ये भी पढ़ें…उत्तराखंड: कोटद्वार में दर्दनाक हादसा, डंपर की चपेट में आने से तीन लोगों की मौत

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here