15.6 C
London
Saturday, June 15, 2024
spot_img

गांव-गांव खुलेंगी अन्नपूर्णा सुपर मार्केट, राशन दुकानें भी की जाएंगी शिफ्ट; बन रहीं 68 माडल शाप

ख़बर रफ़्तार, हरदोई:  एक छत के नीचे अंत्योदय व खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत मिलने वाले राशन के साथ अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाए जाने के लिए प्रत्येक जनपद की सभी ग्राम पंचायतों में अन्नपूर्णा सुपर मार्केट खोली जाएंगी।

सुपर मार्केट में आम जनमानस आधार कार्ड, पहचान पत्र, पेन कार्ड, पेंशन जैसी योजनाओं के लिए आवेदन कर सकेंगे साथ ही रेलवे टिकट, बैंकिंग व अन्य सेवाओं का लाभ भी उठाएंगे। जिला पूर्ति अधिकारी कमल नयन सिंह ने बताया शासन स्तर से उचित दर राशन की दुकानों को अन्नपूर्णा सुपर मार्केट में बदला जा रहा है।
68 मॉडल शॉप का चल रहा निर्माण

जनपद में राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत 68 मॉडल शॉप निर्माण कार्य चल रहा है। योजना के धरातल पर उतरने के बाद चरणबद्ध तरीके से सभी राशन दुकानें कोटेदारों के घर से सरकारी भवन में आ जाएंगी। इन दुकानों से ही सरकार की ओर से अनुमन्य सामग्री विक्रय की जाएगी, पात्र गृहस्थ एवं अंत्योदय योजना के अंतर्गत सरकारी दरों एवं निश्शुल्क दिया जाने वाला राशन वितरित किया जाएगा।

दुकानें कोटेदार के घर की बजाए सरकारी दुकानों में संचालित होंगी तो राशन में घटतौली की होने वाली शिकायतों में भी कमी आएगी। बताया जल्द ही प्रदेश के मुख्यमंत्री पूरे प्रदेश में एक साथ अन्नपूर्णा सुपर मार्केट योजना का शुभारंभ करेंगे।

25 मॉडल शॉप पुताई के लिए तैयार, 36 पर पड़ गई छत

उपायुक्त मनरेगा रवि प्रकाश सिंह ने बताया जनपद के 19 विकास खंडों में 68 मॉडल शॉप निर्माणाधीन हैं, 25 मॉडल शॉप बन कर तैयार हो चुकी हैं, पुताई कार्य चल रहा है। सात मॉडल शॉप में शटर लगना शेष रह गया है। 36 मॉडल शॉप में छत पड़ गई है, अन्य मॉडल शॉप का भी निर्माण चल रहा है।

बताया जल्द ही सभी मॉडल शॉप तैयार हो जाएंगी। भरावन विकास खंड में एक, बावन, मल्लावां में दो-दो, हरियावां, संडीला, टड़ियावां, कछौना, माधौगंज विकास खंड में तीन-तीन मॉडल शॉप निर्माणाधीन हैं। अहिरोरी, बेहंदर, सांडी, सुरसा, शाहाबाद विकास खंड में चार-चार, बिलग्राम, पिहानी, टोंडरपुर व हरपालपुर में पांच-पांच व भरखनी विकास खंड में छह मॉडल शॉप निर्माणाधीन हैं।

इसे भी पढ़ें:- जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में बनाई गई ये अनोखी पुस्तकें, छह किताबों में नहीं एक भी शब्द; फिर इन्हें पढ़ेगा कौन?

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here