18.2 C
London
Thursday, May 23, 2024
spot_img

बिटिया की शादी में ‘अक्षय आशीर्वाद’ का गहना, क्‍या टूटेगा पिछले साल का रिकॉर्ड

ख़बर रफ़्तार, वाराणसी: किसी भी मांगलिक कार्य के लिए अक्षय तृतीया का दिन श्रेष्ठ माना जाता है। इस दिन हुए शुभ कार्य अक्षय हो जाते हैं। लोग इस दिन अचल संपत्ति खूब खरीदते हैं। घर-जमीन के साथ ही सोने के आभूषण की भी खास खरीदारी होती है। इसे निवेश के रूप में भी देखा जाता है।

कारण कि जमीन व सोने का भाव लगातार बढ़ते ही जा रहा है। इस साल अक्षय तृतीया 10 मई को है। साथ ही जुलाई में शादी-विवाह का लग्न भी है। ऐसे में लोग अपनी बिटिया की शादी के लिए गहनों की खरीदारी अक्षय आशीर्वाद के साथ शुरूआत भी कर देंगे।

वहीं सराफा कारोबारियों ने लाइट वेट में सबसे अधिक कलेक्शन उतारे हैं। ताकि कम राशि में भी इसी खरीदारी हो और भाव बढ़ने का असर नहीं हो। वैसे पिछले साल अक्षय तृतीया पर लगभग 500 करोड़ तक सराफा कारोबार पहुुंच गया था, लेकिन इस साल चुनाव के कारण थोड़ी नरमी रहने की संभावना है।

लहुराबीर स्थित एक प्रतिष्ठित ज्वेलरी शोरूम के अधिष्ठाता गुंजन अग्रवाल बताते हैं कि सोने का भाव बढ़ने के कारण उसी बजट में ग्राहकों के लिए लाइट वेट व रोज गोल्ड ज्वेलरी के बहुत सारे कलेक्शन मौजूद है। युवाओं को सबसे अधिक रोज गोल्ड में ब्रेसलेट पसंद आ रहा है।

इसे भी पढ़ें- नशे में धुत युवक ने पत्नी-बेटी की पत्थर से कूच कर की हत्या, पुलिस ने आरोपित को किया गिरफ्तार

अक्षय तृतीया को लेकर ग्राहक अभी से शोरूम की ओर रूख बढ़ा दिए हैं। पूछताछ तेज हो गई है। शादी के लिए भी इस पर्व पर खरीदारी शुरू हो जाएगी। सबसे अधिक 18 कैरेट में लाइट वेट की अंगूठी, चेन, कानबाली, ब्रेसलेट की मांग हो रही है।

वहीं उत्तर प्रदेश स्वर्णकार संघ के जिला महामंत्री किशोर कुमार सेठ मुन्ना बताते हैं कि अक्षय तृतीया को लेकर सभी शोरूम व अन्य दुकानदारों ने पहले ही तैयारी पूरी कर ली है। पूर्वांचल व बिहार के जिलों में पहले ही आपूर्ति हो चुकी है।

पिछले साल अक्षय तृतीय पर लगभग 500 करोड़ का कारोबार हुआ था। हालांकि इस साल चुनाव का असर देखने को मिल सकता है। कारण कि लोग बड़ी राशि लेकर निकलने से हिचकते हैं। उन्होंने बताया कि चार मई को सोने का भाव 73600 रुपये प्रति 10 ग्राम व चांदी का भाव 81200 रुपये प्रति किलो था।

बताया कि बढ़े हुए भाव का कोई खास अंतर नहीं होगा। कारण कि लोग ये मान चुके हैं कि दाम घटना नहीं है। होलसेल की प्रमुख दुकानें सुड़िया, ठठेरी बाजार, रेशम कटरा, गोविंदपुरा, कर्णघंटा आदि क्षेत्रों में है। यहां से वाराणसी ही नहीं पूर्वांचल व बिहार के कुछ जिलों के कारोबारी माल उठाते हैं।

200 करोड़ तक पहुंच सकता है रियल एस्टेट कारोबार

पूर्वांचल रियल एस्टेट एसोसिएशन के संरक्षक अनुज डीडवानिया बताते हैं कि अबकी बार रियल एस्टेट उद्यमियों के लिए अत्यंत उत्साह जनक हो रहा है। लगभग 200 फ्लैटों की बुकिंग एवं पोजीशन का कार्य होने की संभावना है। सरकार की नीतियों के कारण व काशी में बाहर से आ रहे यात्रियों के कारण यहां का रियल एस्टेट उद्यम भी प्रगतिशील हो गया है। अक्षय तृतीया पर लगभग 200 करोड़ रुपये का होने की संभावना है।

1200- बड़े ज्वेलरी शाप हैं जिले में

550- दुकानें थोक की है जिले में

10- हजार छोटी दुकानें मोहल्लों व कस्बों में

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here