8 C
London
Tuesday, April 16, 2024
spot_img

कानपुर में एक दिल दहला देने वाला मामला, बालाजी मंदिर जाने के लिए निकले थे तीन दोस्त, एलीवेटेड हाईवे से गिरी कार, दो की मौत

ख़बर रफ़्तार, कानपुर: नौबस्ता चौराहे के पास एलीवेटेड हाईवे पर डंपर की टक्कर से अनियंत्रित हुई कार एक युवक को टक्कर मारकर करीब 18 फीट नीचे सर्विस लेन के फुटपाथ पर गिरकर पलट गई। हादसे में कार सवार तीन में से दो की मौत हो गई, जबकि कार स्वामी बैंक मैनेजर की हालत गंभीर है।

हसंपुरम आवास विकास निवासी 40 वर्षीय रणविजय सिंह एसबीआइ की आइआइटी शाखा में मैनेजर हैं। उन्होंने गाजीपुर के मरदह निवासी सतीश कुमार सिंह से पुरानी ईको स्पोर्टस कार खरीदी थी। वह कल्याणपुर सत्यम विहार निवासी 27 वर्षीय दोस्त शिवाजीत वर्मा और श्याम नगर निवासी फाइनेंस का काम करने वाले चंदन के साथ मेहंदीपुर बालाजी जाने के लिए सोमवार दोपहर कार से निकले थे।
कार नौबस्ता चौराहे से एलीवेटेड हाईवे पर रैंप से चढ़ते हुए जैसे ही करीब 150 मीटर आगे ही बढ़ी, तभी बगल से निकला तेज रफ्तार डंपर बाईं तरफ कार से टकरा गया। कार भी तेज रफ्तार में थी, जिसकी वजह से अनियंत्रित हो गई। इसके बाद हाईवे पर ही वाहन का इंतजार कर रहे कानपुर के काकरिया निवासी धीरज सिंह को टक्कर मारकर घायल करती हुई अनियंत्रित कार ने पहले डेढ़ फीट ऊंचे डिवाइडर को पार किया।

इस दौरान कार का पहिया फट गया, जिससे चालक का नियंत्रण पूरी तरह से गाड़ी से हट गया। इसके बाद कार करीब साढ़े तीन फीट ऊंची सेफ्टीवाल से टकराने के बाद 18 फीट नीचे गिर गई। कार की गति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सेफ्टीवाल टूटी नहीं बल्कि कार उससे टकराकर उछली और तेज धमाके के साथ नीचे गिरकर पलट गई।

हादसा देखकर सर्विस लेन से जा रहे वाहन सवार सहम गए। राहगीरों ने फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए कार सीधी कराई। तब तक हनुमंत विहार थाना पुलिस और ट्रैफिक पुलिस पहुंच गई।

इसे भी पढ़ें-उत्तराखंड में 45 हजार से अधिक कर्मी चुनाव में संभालेंगे सुरक्षा का जिम्मा, बनाए गए 11729 मतदान केंद्र

सभी को घायलों को कार से निकाल लोडर से पहले नौबस्ता स्थित धन्वंतरि अस्पताल ले जाया गया, जहां से उन्होंने एलएलआर अस्पताल भेज दिया गया। एलएलआर में डाक्टरों ने शिवाजीत और चंदन को मृत घोषित कर दिया, जबकि रणविजय का गंभीर हालत में इलाज चल रहा है।

चार बहनों में इकलौता भाई था शिवाजीत, 22 अप्रैल को था जन्मदिन

चचेरे भाई शुभम ने बताया कि शिवाजीत का अलमारी बनाने का कारखाना था। साथ ही फाइनेंस का भी काम करता था। वह चार बहनों में इकलौता था। बहन रोशनी और शिवानी की शादी हो चुकी है, जबकि शालिनी व शीतल अविवाहित हैं।

शुभम के अनुसार, 22 अप्रैल को शिवाजीत का जन्मदिन था।भाई की मौत की खबर सुनते ही मां मंशादेवी से लिपटकर बिलख पड़ीं। परिवार के अन्य लोग उन्हें संभालने में लगे रहे। चचेरे भाई ने बताया कि शालिनी की शादी भी तय हो चुकी थी लेकिन तारीख अभी तय नहीं की गई थी। इसको लेकर शिवाजीत काफी खुश था।

डीसीपी दक्षिण रवींद्र कुमार ने कहा कि डंपर की टक्कर से कार अनियंत्रित हुई, जिसकी वजह से हादसा हुआ। कार गाजीपुर निवासी की बताई जा रही है। घायल बैंक मैनेजर की हालत गंभीर है। होश में आने पर उससे पूछताछ के बाद हादसे के कारणों की सही जानकारी मिली सकेगी।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here