10.7 C
London
Thursday, February 29, 2024
spot_img
spot_img

नैनीताल के आसपास के कुछ अनदेखे हिल स्टेशन बन रहे पर्यटकों की पसंद

- Advertisement -spot_imgspot_img

ख़बर रफ़्तार, नैनीताल:  सरोवर नगरी नैनीताल के आसपास के क्षेत्र किलबरी, पंगोट, रामगढ़, मुक्तेश्वर व भीमताल भी पर्यटकों की पसंद बनते जा रहे हैं। इन पर्यटन स्थलों में कार्बेट नेशनल पार्क रामनगर से भी अधिक विदेशी पर्यटक पहुंच रहे हैं।

नैनीताल जिला पर्यटन अधिकारी कार्यालय की ओर से मंगलवार को वार्षिक सांख्यिकी रिपोर्ट उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद को भेजी गई है। रिपोर्ट के अनुसार 2011 के बाद दिसंबर 2023 में सर्वाधिक यानी 87,189 पर्यटक नैनीताल की सैर को पहुंचे। नैनीताल में 2023 में 7,76,526 देशी व 7,971 विदेशी जबकि कार्बेट नेशनल पार्क में 3,28,372 देशी व 4,721 विदेशी पर्यटक पहुंचे।

कोरोना काल के बाद से हर साल बढ़ रहे लोग

खास बात यह है कि कोविड काल में रही पर्यटकों की कमी अब साल दर साल बढ़ रही है। इसमें नैनीताल सहित आसपास के इलाकों में पर्यटकों का ज्यादा ध्यान गया है। नैनीताल शहर में पांच सौ से अधिक होटल-गेस्ट हाउस व रिजार्ट तो पार्किंग क्षमता करीब चार हजार से अधिक वाहनों की है।

पर्यटकों को पसंद आईं ये जगहें

वहीं नैनीताल से 10-25 किमी के दायरे में पंगोट, किलबरी, मंगोली, घुग्घुखान, घटगढ़ आदि नए टूरिस्ट डेस्टिनेशन पिछले चार-पांच साल से तेजी से विकसित हुए हैं। यहां 100 से अधिक होटल, रिजार्ट और होम स्टे हैं और पार्किंग की समस्या भी नहीं है। इसके अलावा रामगढ़ व मुक्तेश्वर में भी करीब 120 से अधिक होटल, रिजार्ट व होम स्टे बने हैं। शहर की भीड़भाड़ व कोलाहल से दूर ये शांत क्षेत्र पर्यटन स्थल स्थानीय लोगों की भी आर्थिकी का जरिया बन रहे हैं।

नैनीताल में 10 साल में भ्रमण पर आए पर्यटक

  • वर्ष    – दिसंबर   – पूरे साल
  • 2013- 35758 – 744218
  • 2014- 39395 – 758123
  • 2015 -42533 – 815805
  • 2016- 44526 – 873395
  • 2017- 46268 – 917661
  • 2018- 56286 – 933661
  • 2019- 56747 – 933906
  • 2020- 31319 – 215749
  • 2021- 36946 – 326259
  • 2022- 56909 – 529676
  • 2023- 87189 – 784487

कोविड काल में घटे विदेशी

पर्यटन विभाग के आंकड़ों के अनुसार नैनीताल में 2019 में 9571 विदेशी पर्यटक पहुंचे जबकि 2020 में यह घटकर 2768, 2021 में मात्र 633 थे। 2022 में यह संख्या बढ़कर 4020 पहुंच गई। 2023 में नैनीताल में 7,971 जबकि रामनगर में 4,721 विदेशी पर्यटक सैर पर आए।

नैनीताल शहर में पार्किंग की समस्या

नैनीताल शहर में पार्किंग की समस्या की वजह से पर्यटन कारोबार पर विपरीत असर पड़ रहा है। क्वालिटी टूरिज्म कम हो गया है। पार्किंग समस्या का समाधान जरूरी है। रूसी बाईपास, या नारायण नगर में लग्जरी वाहनों को छोड़कर शटल सेवा से भेजा जाना पर्यटकों को अखरता है। नैनीताल में पार्किंग सुविधा का विस्तार जरूरी है, तभी पर्यटन बढ़ेगा। रुचिर साह, पीआरओ, होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन

यह भी पढ़ें:यूपी में राशनकार्ड धारकों के लिए नया नियम जारी, अब प्रत्येक यूनिट को लगाना होगा अंगूठा

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here