19.1 C
London
Tuesday, July 23, 2024
spot_img

रेप की घटनाओं के लिए ‘छोटी ड्रेस’ जिम्मेदार, वेस्टर्न कल्चर ने बिगाड़ा माहौल, बीजेपी नेता ने दिया विवादित बयान

ख़बर रफ़्तार, काशीपुर: उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर के पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा के एक बयान से सियासत गरमा गई है. उन्होंने लगातार हो रही रेप की घटनाओं पर चिंता जाहिर की है. साथ ही इस तरह की वारदातों के पीछे महिलाओं और छात्राओं के प्रति पुरुषों की बढ़ रहे घृणित सोच को कारण बताया है. साथ ही महिलाओं की ओर से पश्चिमी संस्कृति के पहनावे को जिम्मेदार ठहराया है. उधर, चीमा के इस पर विवादित बयान पर कांग्रेस ने घेरा है तो वहीं बीजेपी ने बयान से खुद को अलग किया है.

दरअसल, काशीपुर के पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा के कार्यालय की ओर से मीडिया को एक विज्ञप्ति जारी की गई है. जिसके माध्यम से उन्होंने दुष्कर्म के मामलों में इजाफे पर चिंता व्यक्त करते हुए महिला और छात्राओं के प्रति पुरुषों की बढ़ रही घृणित सोच को भारतीय संस्कृति के विपरीत बताया है. इतना ही नहीं उन्होंने इन घटनाओं के बढ़ने के पीछे कहीं न कहीं महिलाओं की ओर से पश्चिमी सभ्यता के पहनावे को जिम्मेदार ठहराया है.

पूर्व विधायक हरभजन चीमा ने सलाह देते हुए कहा कि महिलाओं और छात्राओं को अपने देश की संस्कृति व सभ्यता के अनुरूप अंग वस्त्र धारण करना चाहिए. साथ ही उन्होंने इसके लिए अभिभावकों को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि उन्हें अपने परिवार की महिलाओं और बालिकाओं को भारतीय संस्कृति के मुताबिक वस्त्र धारण कराना चाहिए.

Kashipur Former MLA Harbhajan Singh Cheema

वहीं, पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा ने सभी स्कूल प्रबंधकों से अपील की है कि वो छात्राओं की पोशाक में भारतीय संस्कृति के अनुरूप परिवर्तन लाएं. साथ ही कहा है कि समाज के सभी वर्गों को इस दिशा में आगे आना चाहिए, तभी इस घृणित कृत्य में कमी आ सकती है.

हरभजन चीमा के बयान पर कांग्रेस ने घेरा: बीजेपी के पूर्व विधायक हरभजन चीमा के इस बयान पर सियासत तेज हो गई है. कांग्रेस ने इसे बीजेपी की महिलाओं के प्रति कुंठित सोच बताया है. कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने बयान जारी करते हुए कहा है कि पूर्व विधायक हरभजन चीमा का बयान बीजेपी की रीति-नीति और समाज के प्रति बीजेपी की सोच को प्रदर्शित करता है.

गरिमा दसौनी ने कहा कि महिला अपराधों में ज्यादातर दुष्कर्म नाबालिगों के साथ हो रहे हैं. ऐसे में पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा और भारतीय जनता पार्टी बताएं कि नाबालिग बच्चियों को आखिर क्या पहनाया जाए? ताकि, उन मासूमों के साथ इस तरह का कृत्य ना हो?

उन्होंने कहा कि अपनी सरकार को नाकामी पर घेरने के बजाय सारा ठीकरा महिलाओं के पहनावे पर फोड़ दिया गया है, जो कि बहुत ही निंदनीय है. हरभजन सिंह चीमा को सार्वजनिक रूप से देश की तमाम मातृशक्ति से इस तरह का घिनौना और निकृष्ट बयान देने के लिए माफी मांगनी चाहिए.

बीजेपी ने बयान से खुद को किया अलग, प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट बोले- इसकी जानकारी नहीं: वहीं, इस पूरे मामले पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने सफाई दी है. महेंद्र भट्ट का कहना है कि हरभजन सिंह सीमा उनके वरिष्ठ नेता हैं, जो कि 80 वर्ष की आयु पार कर चुके हैं. उनके जीवन के अपने तरह के अनुभव रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज के हिसाब से लोगों के विचार अलग हो सकते हैं.

हरभजन सिंह चीमा ने जो बयान दिया है, उससे वो पूरी तरह से अनभिज्ञ हैं. उन्होंने कहा कि उनके बयान को राजनीतिक रूप से नहीं देखा जाना चाहिए. यह उनका व्यक्तिगत बयान हो सकता है. आज के परिवेश में किसी महिला के संस्कारों को उनके कपड़ों से नहीं आंका जा सकता है.

ये भी पढे़ं- लेखपाल के साथ प्रधान को मारपीट करना पड़ा भारी, कोर्ट ने जारी किया गिरफ्तारी वारंट

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here