18.2 C
London
Thursday, May 23, 2024
spot_img

अगस्त्यमुनि में एक्सरे मशीन खराब होने से मरीज परेशान, प्राइवेट में इलाज कराने को मजबूर

ख़बर रफ़्तार, रुद्रप्रयाग: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अगस्त्यमुनि की एक्सरे की मशीन विगत 10 दिनों से खराब होने से आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. मजबूरी में मरीजों को 17 किलोमीटर दूर रुद्रप्रयाग जिला मुख्यालय जाना पड़ रहा है. जो कि गरीब जनता को भारी पड़ रहा है और समय के साथ धन भी अधिक लग रहा है. जबकि अधिकारी शीघ्र ही एक्सरे मशीन ठीक कराने की बात कर रहे हैं.

सीएचसी अगस्त्यमुनि में अभी हाल ही में नई एक्सरे मशीन लगी है, मगर यह अक्सर खराब होती रहती है. नई मशीन के इतनी जल्दी खराब होने से मशीन की क्वालिटी पर सवालिया निशान भी लग रहे हैं, लेकिन अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं. इस बार भी विगत दस दिनों से एक्सरे मशीन खराब पड़ी हैं. बुद्धवार सुबह नगर के निवर्तमान व्यापार संघ अध्यक्ष नवीन बिष्ट पैर का एक्सरे कराने अस्पताल पहुंचे तो मशीन खराब होने की बात सामने आई.अस्पताल प्रशासन के जवाब से संतुष्ट न होने पर उन्होंने जब इस बारे में सीएमओ रुद्रप्रयाग को टेलीफोन से समस्या बताई तो उन्होंने पल्ला झाड़ते हुए इसे अगस्त्यमुनि हॉस्पिटल के इंचार्ज की जिम्मेदारी बताया.

सवाल ये है कि जिम्मेदार पद पर बैठे हुए अधिकारी ही अपने ही विभाग की समस्या पर अपना पल्ला झाड़ दे तो फिर कैसे लोग आपातकालीन परिस्थितियों में उनसे गुहार लगाएंगे. यह स्थिति तब है जब यात्रा सीजन चल रहा है और पूरे रुद्रप्रयाग जिले की स्वास्थ्य सेवाओं को एलर्ट मोड पर रखा गया है. लेकिन ये विडंबना है कि यात्रा मार्ग के सबसे अहम नगर अगस्त्यमुनि में एक्सरे मशीन आए दिन खराब हो रही है.बता दें कि केदारनाथ विधायक शैला रानी रावत के प्रयास से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अगस्त्यमुनि में पिछले कुछ समय से सुविधाओं का इजाफा हुआ है. नए डॉक्टरों की तैनाती के साथ अल्ट्रासाउंड की सुविधा भी यहां शुरू हो गई है.

कुछ समय से विशेषज्ञ डॉक्टर, फिजिशियन, बाल रोग विशेषज्ञ, रेडियोलॉजिस्ट और सर्जन की नियुक्ति होने से आम आदमी को काफी राहत मिल रही है. लेकिन अभी भी आर्थोपेडिक सर्जन, गाइनोलॉजिस्ट की आवश्यकता है. हाल ही में नई एक्सरे मशीन भी यहां लगी है. लेकिन वह भी बार बार खराब बताई जा रही है. ऐसे में एक्सरे मशीन का लगातार तकनीकी रूप से खराब होना जनता की परेशानी का सबब बन रहा है. व्यापार संघ के निवर्तमान अध्यक्ष नवीन बिष्ट ने बताया कि अगस्त्यमुनि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र केदारघाटी की लगभग एक लाख की आबादी की लाइफ लाइन है.

परन्तु यहां सुविधाओं का भारी अभाव बना हुआ है. जो कि सोचनीय विषय है. जिम्मेदारों से जब उन्होंने शिकायत और समाधान चाहा तो अधिकारी पल्ला झाड़ रहे हैं. वहीं सीएचसी के चिकित्साधीक्षक डॉ. विशाल वर्मा ने बताया कि एक्सरे मशीन के खराब होने की सूचना मेंटेनेंस कंपनी को दे दी गई थी, आज उनके एक्सपर्ट पार्ट सहित यहां पहुंच गए हैं. तकनीकी कमी को दूर किया जा रहा है. बृहस्पतिवार तक मशीन सुचारू कर दी जाएगी.

पढ़ें- हरकी पैड़ी क्षेत्र में दो गुटों के बीच चले लात-घूंसे, कई लोगों के फूटे सिर

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here