10.1 C
London
Thursday, February 22, 2024
spot_img
spot_img

उत्तराखंड: नैनीताल DM वंदना सिंह ने हल्द्वानी हमले को लेकर की प्रेस कांफ्रेस, दी ये जानकारी

- Advertisement -spot_imgspot_img

ख़बर रफ़्तार, हल्द्वानी:  उत्तराखंड के हल्द्वानी में उस वक्त तनातनी की स्थिति पैदा हो गई जब मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र कहे जाने वाले बनभूलपुरा में सरकारी जमीन पर बने अवैध मदरसे और नमाज स्थल को तोड़ने के लिए गई टीम पर हमला हो गया। इस हमले में पुलिसकर्मियों और मीडियाकर्मियों समेत 250 से ज्यादा लोग घायल हो गए। तनाव की स्थिति को देखते हुए चार कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्स बुला ली गई। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए इंटरनेट बंद करने की तैयारी की जा रही है।

हल्द्वानी घटना को कवर करने पहुंचे पत्रकार ने सुनाई आपबीती

हल्द्वानी बनभूलपुरा में रणनीति के तहत किए गए हमले में कई पत्रकारों को भी चोट पहुंची। उनके वाहनों को आग के हवाले कर दिया। छायाकार संजय कनेरा भी घटनाक्रम को कवर करने पहुंचे थे। वह घटना को कवर कर दफ्तर पहुंचने के लिए जैसे ही बाहर निकले तो पथराव होने लगा। अचानक सोचा कि गली की तरफ निकलें, ताकि सामने और पीछे की तरफ से बरस रहे पत्थरों से बचा जा सके लेकिन गली में तो मौत खड़ी थी।

इलाज में जुटी रही डॉक्टरों की टीम

हल्द्वानी बेस अस्पताल के अतिरिक्त एसटीएच में डाक्टरों की टीम मौजूद रही। प्राचार्य प्रो. अरुण जोशी व चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जीएस तितियाल भी डटे रहे। डॉ. जोशी ने बताया कि सभी विभागों के विभागाध्यक्ष समेत डाक्टरों की टीम घायलों के इलाज में लगे रहे।

देर रात भोजन लेकर पहुंचे भाजपा जिलाध्यक्ष

हल्द्वानी एसटीएच में बदहवास की स्थिति व दिनभर भूखे रहे पुलिसकर्मियों को भोजन की व्यवस्था की गई। जिलाध्यक्ष प्रताप बिष्ट ने खिचड़ी बनवाई और पुलिसकर्मियों को बंटवाई। इसमें भाजपा व युवा मोर्चा के कई कार्यकर्ता शामिल रहे। बिष्ट ने घायल पुलिसकर्मियों से मुलाकात की।
कांग्रेस नेता ने की शांति बनाए रखने की अपील

कांग्रेस राज्यसभा सांसद इमरान प्रतापगढ़ी ने एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा,”हल्द्वानी उत्तराखंड के हालात दुखद हैं, हल्द्वानी की जनता से शांति की अपील है, पुष्कर धामी सरकार जिस रास्ते पर चल रही है वो घोर जनविरोधी रास्ता है, हल्द्वानी और उत्तराखंड के प्रशासनिक अमले से अनुरोध है कि कानून सम्मत तरीके से कानून व्यवस्था बहाल करें, पूरा देश हल्द्वानी में अमन और शांति के लिये दुआ कर रहा है।”

250 से अधिक घायल व एक की मौत

महिला एसडीएम व एसपी समेत करीब 250 से अधिक पथराव में चोटिल हो गए हैं, जबकि एक व्यक्ति की मौत हो गई है। लोग अस्पतालों में उपचार करा रहे हैं।

उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश

तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए डीएम वंदना ने रात में नगर क्षेत्र में कर्फ्यू लगाते हुए उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के आदेश भी कर दिए गए।

मौके पर भेजी जा रही केंद्रीय बल की टुकड़ियां

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा, “न्यायालय द्वारा दिए कए आदेशों के क्रम में प्रशासन की टीम अवैध अतिक्रमण को हटाने गई थी। वहां अराजक तत्वों के साथ पुलिस की झड़प हुई है। जिसमें पुलिस और प्रशासन के लोगों को चोट आई है… तत्काल वहां पर पुलिस और अन्य केंद्रीय बल की टुकड़ियां भेजी जा रही हैं। सभी से शांति बनाने की अपील की जाती है। कर्फ्यू लगा दिया गया है… जिन्होंने आगजनी की है, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।”

उत्तराखंड DGP बोले- स्थिति काबू में

उत्तराखंड के DGP अभिनव कुमार ने कहा, “आज शाम लगभग 4 बजे हलद्वानी के बनभूलपुरा में जिला प्रशासन और पुलिस की संयुक्त टीम न्यायालय के आदेशों के क्रम में अवैध अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई कर रही थी। उस कार्रवाई के विरोध में वहां कुछ उपद्रवी अराजक तत्वों द्वारा पथराव और आगजनी की गई। सूचना मिली है कि उन लोगों ने अवैध तसलों से पुलिस और प्रशासन पर फायरिंग भी की… थाने के आस-पास भी तोड़फोड़ और आगजनी की सूचना है… सूचना मिलते ही DIG कुमाऊ भी मौके पर पहुंचे और आस-पास के जनपद से भी अतिरिक्त पुलिसबल वहां भेजा गया है।

शहरी क्षेत्र में कर्फ्यू लागू

 हलद्वानी शहरी क्षेत्र में हिंसा के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है। यह आदेश आज रात 9 बजे लागू हो गया और अगले आदेश तक लागू रहेगा।

CM धामी ने बुलाई आपात बैठक

Haldwani Madarsa Demolition Live Updates: CM धामी ने बुलाई आपात बैठक

हल्द्वानी मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई, मुख्य सचिव राधा रतूड़ी और पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार के साथ स्थिति की समीक्षा की।

ये भी पढ़ें..बवाल के बाद शहर में लगा कर्फ्यू, इंटरनेट सेवा बंद, छह लोगों की मौत, 300 से ज्यादा घायल

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here