13.9 C
London
Monday, July 22, 2024
spot_img

चमोली के 60 गांव में भारी बर्फबारी, माइनस में पहुंचा तापमान

ख़बर रफ़्तार, गोपेश्वर : चमोली जिले में दो दिन से हो रही वर्षा व बर्फबारी से दुश्वारियां भी बढ़ी है। बर्फबारी से तीन सड़कें अवरुद्ध है। रुक-रुक कर हो रही बर्फबारी से बद्रीनाथ हाईवे पांडुकेश्वर से बद्रीनाथ के बीच बंद हो गई है। शीतकाल में इस सड़क पर सेना आईटीबीपी ,बीआरओ के वाहनों की आवाजाही बनी रहती है।

पर्यटन महत्व की जोशीमठ औली व गोपेश्वर मंडल चोपता हाईवे भी धौतीधार के पास बंद है। बताया गया कि धौतीधार के पास हाईवे पर बर्फ जमी होने के कारण वाहन फिसल रहे हैं। जिससे पुलिस ने इस रूट पर वाहनों को मंडल से आगे रोका जा रहा है। यह हाईवे गोपेश्वर चोपता होते हुए उखीमठ रुद्रप्रयाग को जोड़ता है।

बर्फ बसे बंद हैं मार्ग

जोशीमठ से औली सड़क भी कवांड बैंड से आगे बर्फ से बंद है। यहां वाहन फिसल रहे हैं। पर्यटक वाहन कवांड बैंड तक जा रहे हैं यहां से स्थानीय होटलों के जिप्सी वाहनों से पर्यटकों को औली आवाजाही कराई जा रही है। पर्यटकों को भी होटलों में ठहराया गया है।

साठ से अधिक गांवों में हुई बर्फबारी

जिले में साठ से अधिक गांव हिमाच्छादित हैं। हालांकि इन गांवों में पहले से राशन सहित आवश्यक सामग्री मौजूद है। बताया गया कि गांवों को जाने वाली पैदल पगडंडियां भी बर्फ से ढकी हुई है।

रुक-रुक कर हो रही है बर्फबारी

चमोली जिले में दो दिनों से वर्षा व बर्फबारी का दौर जारी है। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल औली में दो फीट बर्फ पड़ चुकी है। यह बर्फ शीतकालीन खेलों के आयोजन के लिए महत्वपूर्ण मानी जा रही है। बीते दिन से रुक रुक कर वर्षा व बर्फबारी हो रही है। बद्रीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब, हनुमान चट्टी,औली, मंडल घाटी, पाणा ईराणी, दुर्मी पगना,झींझी,रामणी,धूनी, सहित जिले की चोटियां बर्फ से लकदक है। वर्षा व बर्फबारी से चमोली में शीतलहर का भी प्रकोप है।

घरों में कैद हुए लोग

लोग घरों में ही कैद होकर रह गए हैं। नगर में लोग अलाव का सहारा लेकर ठंड से निजात पा रहे हैं। वहीं जिला प्रशासन ने मौसम की दुश्वारियों को देखते हुए अधिकारियों को हर समय अलर्ट रहने व व्यवस्थाओं को चाक चौबंद किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Latest news
- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here